HomeNATIONALCHHATTISGARHVideo: सड़क हादसे में 3 बंदरों की मौत, शोक में डूबे साथी...

Video: सड़क हादसे में 3 बंदरों की मौत, शोक में डूबे साथी बंदर, समाजसेवियों ने किया अंतिम संस्कार

रायपुर। राजधानी रायपुर से कुछ किलोमीटर दूर हुए सड़क हादसे से लोगों का मन दुखी हो गया। मौके पर मौजूद लोगों की इस दर्दनाक हादसे को देखकर आंखें भर आईं। सेवभावियों ने पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर मानवता का परिचय दिया। वानरों के शोक में शामिल होकर मानवों ने मानवता की मिसाल पेश की।


मानव तो मानव,वानरों का झुंड भी अपने परिवार के सदस्यों व साथियों की दर्दनाक मौत पर शोक में डूब गया। पास ही एक दीवार पर बैठा वानरों का समूह इस उम्मीद में था कि शायद कोई हलचल हो,लेकिन उनके परिवार के सदस्यों व साथियों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी।


यह दुखद घटना मंगलवार को घटित हुई। दुर्ग जिले के जंजगिरी के पास सड़क पार करते हुए तीन बंदर सड़क दुर्घटना का शिकार हो गए। तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। मौके पर राजेश विश्वकर्मा, सतीश कोठारी भोलू अनुरागी और जंजगिरी के पार्षद लोकेश साहू और सत्यप्रकाश ने पूरे विधि विधान से मृत बंदरों का अंतिम संस्कार किया। सभी ने प्रार्थना की कि भगवान बजरंगबली उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें। उन्होंने कहा है कि मनुष्य बसा बसाया जंगल उजाड़ रहे हैं। इससे बेजुबानों को मजबूरी में भोजन की तलाश में शहरों में आना पड़ रहा है। इससे इस प्रकार की दुखद घटनाएं होती हैं। इन घटनाओं के जिम्मेदार मानव हैं। क्या शासन-प्रशासन अन्य जानवरों की तरह इनके लिए भी ध्यान नहीं दे सकती है ? उन्होंने शासन से निवेदन किया है कि आर्टिफिशियल पौधों को लगाने के बजाए फलदार वृक्षों का जंगल बनाया जाए। इससे इस प्रकार के दुर्घटना का शिकार कोई भी बेजुबान जानवर न हो पाए।


सत्यप्रकाश शर्मा एवं जय हिंद यूथ क्लब के सभी सदस्यों की ओर से ऐसा सेवा कार्य किया जा रहा है। इनके सामाजिक कामों की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। सत्यप्रकाश शर्मा का कहना है कि वानरों की मौत की इस दुखद घटना से सभी का मन दुखी हो गया। वे स्वयं और मित्र रुपेश,राजेश विश्वकर्मा, लोकेश,संतोष कोठारी और वेद प्रकाश सभी लोगों ने मिलकर वानरों का अंतिम संस्कार पूरे रीति रिवाजों के साथ किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments