HomeNATIONALCHHATTISGARHगांजा तस्करी का गलियारा बन गया छत्तीसगढ़, यही है भूपेश मॉडल :...

गांजा तस्करी का गलियारा बन गया छत्तीसगढ़, यही है भूपेश मॉडल : बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर। पूर्व मंत्री व वरिष्ठ भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल ने कोंडागांव में दो करोड़ से अधिक कीमत का एक टन से अधिक वजनी गांजा बरामद किये जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ गांजा तस्करों का स्वर्ग बन गया है। कभी उड़ीसा से गांजे की खेप आ रही है तो कभी आंध्र प्रदेश से। गांजा छत्तीसगढ़ से गुजरकर महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, हरियाणा, सहित अन्य राज्यों में जा रहा है। यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कहते हैं कि छत्तीसगढ़ में एक पत्ती गांजा तक प्रवेश नहीं करना चाहिए तो सीमा पार कर इतने अंदर तक थोक में गांजा पहुंच कैसे रहा है। सीमा पर ऐसी कौन सी चौकसी हो रही है जो टनों गांजा आर पार हो रहा है। सरकार दावा करती है कि छत्तीसगढ़ सीमा पर गांजा तस्करी रोकने के लिए भारी इंतजाम किया गया है।

क्या यही इंतजाम है कि छत्तीसगढ़ की सीमा से होते हुए गांजा दूसरे राज्यों में जा रहा है। यह एक पत्ती नहीं एक टन का जखीरा है भूपेश जी, देख सकते हैं कि राज्य की सीमाओं पर बने चेकपोस्टों में आपकी हुकूमत चल रही है या गांजा तस्करों की। पूर्व मंत्री तथा वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कानून व्यवस्था का सवाल उठाते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य आंध्रप्रदेश-हरियाणा के बीच गांजा गलियारा बन गया है। एक पत्ती गांजा तक छत्तीसगढ़ न आने का ढकोसला करने वाले का छत्तीसगढ़ मॉडल यही है कि मादक पदार्थों की तस्करी और राज्य के हर शहर, कस्बे, गांव, गली मोहल्ले में गांजा बिक रहा है। प्रदेश की युवा पीढ़ी का भविष्य धुंए में उड़ रहा है। नशीली गोलियों और सीरप में उजड़ रहा है। यह सरकार इन्हें रोजगार तो दे नहीं सकती। कम से कम उनकी जिंदगी से खिलवाड़ का पाप करने से तो बाज आये।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments