HomeNATIONALCHHATTISGARHएनटीपीसी कोरबा में बालिका सशक्तिकरण अभियान का सफलतापूर्वक समापन

एनटीपीसी कोरबा में बालिका सशक्तिकरण अभियान का सफलतापूर्वक समापन

बीएन यादव कोरबा। एनटीपीसी कोरबा ने ग्रामीण पृष्टभूमि की बालिकाओं के शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण एवं सशक्तिकरण हेतु प्रयास कर उनकी उन्नति के लिए “बालिका सशक्तिकरण अभियान” आयोजित किया। एक माह तक चलने वाले इस अभियान का समापन कोरबा कलेक्टर रानु साहू की गरिमामई उपस्थिती में हुआ।

कार्यक्रम की शुरुआत स्वागत सम्बोधन और अतिथियों के अभिनंदन से हुई। तत्पश्चात कलेक्टर ने अपने कर कमलों से दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम की शुरुआत करने की अनुमति दी। दीप प्रज्वलन में  कौशल तेंदुलकर, अनुभागीय अधिकारी, कटघोरा, एनटीपीसी कोरबा के मुख्य महाप्रबंधक पी एम जेना, मैत्री महिला समिति अध्यक्षा राजश्री जेना, महाप्रबंधक प्रचालन एवं अनुरक्षण पी राम प्रसाद, मैत्री महिला समिति उपाध्यक्ष गीता राम प्रसाद, महाप्रबंधक गण, विभागाध्यक्ष गण, मैत्री महिला समिति के पदाधिकारी गण, यूनियन असोशिएशन के पधाधिकारी गण एवं एनटीपीसी कोरबा के कर्मचारी उपस्थित थे। 

दीप प्रज्वलन के पश्चात एनटीपीसी गीत बजाया गया एवं केक कटिंग सेरिमोनी की गयी। कार्यक्रम में कलेक्टर ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली बालिकाओं को प्रमाण पत्र देकर उन्हे प्रोत्साहित किया।

अपने सम्बोधन में उन्होने कहा की “महिलाओं एवं बालिकाओं को आगे बढ्ने की प्रेरणा देने की ज़रूरत है। इस दिशा में एनटीपीसी का अभियान निश्चित रूप से एक अच्छी पहल है। एनटीपीसी का स्थान कोरबा में एक बड़े पीएसयू के रूप में है एवं नैगम सामाजिक दायित्व के अंतर्गत आस पास के गाँव में काम किया जा रहा है। मैं ये कामना करती हूँ की एनटीपीसी आस पास के गाँव के बच्चों के उत्साह वर्धन के लिए औध्योगिक दौरे जैसे कार्यक्रम आयोजित करता रहेगा। मैं ये भी आशा करती हूँ की ये बालिकाएँ इसी तरह आगे बढ़ते रहें और अपने सपनों को पूरा करें”।

कार्यक्रम में सभा को संबोधित करते हुए मुख्य महाप्रबंधक पी एम जेना ने कहा कि “जबसे इस सशक्तिकरण अभियान कि शुरुआत कि गयी थी तब से ले कर अभी तक मैं इन बालिकाओं में सार्थक बदलाव देख रहा हूँ। बहुत कम दिनों में बालिकाओं कि प्रतिभा और आत्मविश्वास में बढ़ोतरी दिख रही है। अभियान के द्वारा हल्के से सहयोग मात्र से बालिकाओं कि प्रतिभा में वृद्धि आई है। बालिका सशक्तिकरण अभियान का यही उद्देश्य है कि बालिकाओं कि प्रतिभा को और बढ़ोतरी मिले। मैं इन बच्चियों के उज्ज्वल भविष्य कि कामना करता हूँ”।

कार्यक्रम के औपचारिक भाग के बाद विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम किए गए। सर्वप्रथम स्वागत गीत गा कर बालिकाओं ने अतिथियों का स्वागत किया जिसके पश्चात गणेश वंदना से बालिकाओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की कड़ी की मंगल शुरुआत की।

इस कड़ी में बालिकाओं ने बालिका सशक्तिकरण के प्रसंग में विभिन्न गीत गाए एवं नाटक – कला की। कार्यक्रम में भारत की संस्कृति को प्रमुखता से दिखने के लिए 6 राज्यों के लोक नृत्य भी दिखाये गए। सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान मंच का संचालन बालिका सशक्तिकरण अभियान से जुड़ी बालिकाओं कुमारी यामिनी डडसेना एवं कुमारी रोशनी द्वारा किया गया।

सभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बालिकाओं ने बढ़ चढ़ के हिस्सा लिया एवं अद्भुत प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में मौजूद सभी अतिथि बालिकाओं की प्रतिभा से मन्त्र्मुघ्द हो गए और बच्चियों की मेहनत की भूरी भूरी प्रशंसा की।

समापन समारोह का उद्देश्य बालिकाओं की निखरती प्रतिभा को दर्शाते हुए उनके हुनर को बढ़ावा देना था। एनटीपीसी कोरबा इन बालिकाओं के उज्ज्वल भविष्य कि कामना करता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments