HomeNATIONALCHHATTISGARHVideo: अतिक्रमण हटाने गये पंचायत प्रतिनिधियों पर किया गया हमला, शासकीय कार्यों...

Video: अतिक्रमण हटाने गये पंचायत प्रतिनिधियों पर किया गया हमला, शासकीय कार्यों में डाली बाधा

वैभव चौधरी धमतरी। जिलें के अंतर्गत ग्राम पंचायत नवागांव (कंडेल) में 3 दिसम्बर को शासकीय घास जमीन पर अवैध अतिक्रमण हटाने गये ग्राम पंचायत नवागांव के सरपंच गनराज सिन्हा  और पंचायत प्रतिनिधियों के ऊपर अतिक्रमणकारियों ने गाली गलौज कर मारपीट की और शासकीय कार्य में बाधा डाला। जिसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने नवागांव के सरपंच गनराज सिन्हा और पंचगण थाना अर्जुनी पहुंचे थे जहां थाना अर्जुनी के व्दारा अभी लिखित शिकायत लेकर जाँचकर उचित कार्रवाई की बात कही।
वही इस पुरे मामले पर नवागांव सरपंच गनराज सिन्हा ने बताया की पिछले 20 वर्षों से नवागांव में सभी शासकीय भूमि अतिक्रमण हो चुका था, यहां तक मुक्तिधाम स्थल तक नही बचा था। जिसके चलते शासन का कोई भी कार्य नही हो पा रहा था जिसे गंभीरता से लेते हुए वर्तमान सभी पंचायत प्रतिनिधियों ने अतिक्रमण हटाने के लिए प्रस्ताव लाया, जहां पहले अपने पंचायत प्रतिनिधियों से अतिक्रमण हटाने का कार्य शुरू की और देखते ही देखते वर्ष 2020 में करीब 70 एकड़ शासकीय जमीन को शांतिपूर्वक अतिक्रमण से मुक्त कराया जिसके बाद गांव के शासकीय भूमि पर मकान के अलावा  30 से 50 डिस्मील  तक अतिरिक्त शासकीय भूमि को कुछ लोगों के व्दारा पक्का दिवाल घेरा किया गया था। जिसे हटाने पंचायत व्दारा नोटिस एवं इसकी जानकारी तथा हटाने में सहयोग के लिए एसडीएम धमतरी, व तहसीलदार को 28 अक्टूबर 2020 को लिखित जानकारी दिया गया था। जिसमें नायाब तहसीलदार द्वारा पंचायत को 13 माह तक पूरा सहयोग करने का झूठा आश्वासन दिलासा देकर गुमराह किया गया वही आगे बताया सरपंच भी जवाब प्रस्तुत के लिए नोटिस जारी करता था अंत मे पंचायत द्वारा प्रस्ताव कर 3 दिसंबर को उक्त पर्दा दिवालों को जो जरूरत से ज्यादा एवं चारागाह स्वीकृत स्थानों से अतिक्रमण हटाने 3 दिसंबर 2021 दिन शुक्रवार को निर्धारित किया गया एवं इसकी जानकारी व सुरक्षा हेतु पुलिस बल के लिए लिखित आवेदन धमतरी कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार व एसपी को लिखित सूचना देने के बाद भी ग्राम पंचायत नवागांव को जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के व्दारा अतिक्रमण हटाने में कोई सहयोग नहीं दिया गया। जब पंचायत द्वारा अतिक्रमण हटाने कोटवार द्वारा बुनियादी कराया गया तो तहसीलदार ने कोटवार को भी बुला कर धमकी चमकी लगाया तहसीलदार के द्वारा कोटवार को बोला गया की आप मेरे खाते हैं या पंचायत का खाते है ये बोला गया साथ ही पंचायत व्दारा अतिक्रमण हटाने वाले दिन कोटवार को वहां उपस्थित नही होने के लिए धमकाया गया इस तरह कोटवार को दबाव डाला गया।
 जिस पर सरपंच गनराज सिन्हा ने तहसीलदार के ऊपर भी राजनीतिक दबाव में आकर शासकीय काम में सहयोग न करने का आरोप लगाया। वही सरपंच ने क्षेत्रीय सत्तापक्ष के कुछ नेता पर भी आरोप लगया है की  क्षेत्रीय नेता अतिक्रमणकारियों को साथ देकर, उन्हें बलवा के लिए उकसाने और अतिक्रमणकारियों को जेसीबी मशीन मे तोडफोड करने व पंचायत प्रतिनिधियों के ऊपर मारपीट के लिए उकसाने का आरोप लगाया, सरपंच ने कहा की सत्तापक्ष नेता के संरक्षण में अतिक्रमणकारियों हौसले बुलंद है। जिससे ग्राम पंचायत को शासकीय काम को पुरा करने में बाधा हो रही है और गांव का महौल भी खराब हो चुका है जिससे ग्रामीणों को काफी समस्या हो रही है। वहीं इस मामले पर नवागांव सरपंच गजराज सिंहा ने जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से सहयोग करने और दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कड़ी कार्यवाही की मांग की है मांग पुरा नहीं होने पर शासकीय काम को आगे नहीं बढ़ाने की बात कही है।


RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments