HomeNATIONALMISCभूपेश बघेल की पहल पर दो साल पहले शुरू हुए कुपोषण मुक्ति...

भूपेश बघेल की पहल पर दो साल पहले शुरू हुए कुपोषण मुक्ति अभियान के सकारात्मक परिणाम सामने आने लगे है

रायपुर/महासमुंद। भूपेश बघेल की कुपोषण मुक्ति की पहल पर छत्तीसगढ़ में 2 अक्टूबर 2019 को शुरू हुए मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान को 2 वर्ष से ज्यादा समय हो गया। इस अभियान के सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं। महासमुंद जिले के पूरे क्षेत्र में कुपोषण एवं एनीमिया को जड़ से समाप्त करने कार्ययोजना बनाकर कार्य किया जा रहा है। इस कार्यकम में जिला प्रशासन और महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।
महामसुंद जिले में महिला एवं बाल विकास अंतर्गत 1795 ऑगनबाड़ी केन्द्र स्वीकृत है। जिसमें से 717 ऑगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण वाटिका विकसित की गई है। सुपोषण अभियान के अंतर्गत जिले के आंगनबाड़ी केन्द्रों में सुपोषण वाटिका तैयार कर सब्जी का उपयोग भी किया जा रहा है। साथ में सभी प्रकार के स्थानीय साग भाजी एवं खाद्य पदार्थों को शामिल कर भोजन जिसके माध्यम से ऑगनबाड़ी कार्यकर्ताएं पोषण वाटिका, बाड़ी में लगे फलों व सब्जियों का उपयोग कर रोटी के साथ साग-भाजी, हरी सब्जी तथा मुनगा भाजी नियमित रूप से बच्चों को दी जा रही है। वर्तमान में ऑगनबाड़ी केन्द्रों से लगी गौठान क्षेत्रों में विकसित किए जाने हेतु जिला खनिज न्यास निधि से 50 पोषण वाटिका की स्वीकृति दी गयी है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments