HomeNATIONALCHHATTISGARHकोरबा : विश्व तम्बाकू निषेध दिवस का हुआ आयोजन, तम्बाकू नियंत्रण व...

कोरबा : विश्व तम्बाकू निषेध दिवस का हुआ आयोजन, तम्बाकू नियंत्रण व रोकथाम के लिए लोगों को किया गया जागरूक

बीएन यादव कोरबा। विश्व तम्बाकू निषेध दिवस 31 मई 2022 के अवसर पर जिला कोरबा में स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके अंतर्गत मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी. बी. बोडे ने कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के समस्त स्टाफ का तम्बाकू नियंत्रण एवं उपयोग न करने के संबंध में शपथ ग्रहण कराया। साथ ही तम्बाकू नियंत्रण एवं इसके उपयोग को रोकने के लिए लोगो को जागरूक किया गया। इस अवसर पर डॉ. बी.बी. बोडे ने जानकारी दी कि तम्बाकू के इस्तेमाल से हर साल करीब 50 लाख लोगों की मृत्यु होती है। इसके अलावा तम्बाकू के सेवन से गंभीर बीमारियां जैसे मुंह का कैंसर, फेफड़े का कैंसर, उच्च रक्तचाप, दिल का दौरा, नपुंसकता, स्वाद तथा सूंघने की शक्ति का प्रभावित होना, आंखों में जलन, मोतियाबिंद, हड्डी का घनत्व कम होना बीमारियां होती है। साथ ही परिवार के रिश्तों में भी प्रभाव पड़ता है। डॉ.बी.बी. बोडे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला कोरबा एवं डॉ. कुमार पुष्पेश, जिला नोडल अधिकारी (एन.टी.सी.पी.) के मार्गदर्शन में शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय परिसर में नुक्कड़ नाटक, ड्राइंग पोस्टर और सलोगन राइटिंग प्रतियोगिता नर्सिग कॉलेज के बच्चों के द्वारा किया गया तथा उन्हें पुरस्कृत किया गया। विभिन्न प्रकार के एन.जी.ओ. एवं शिक्षा विभाग द्वारा भी अपने संस्थानों में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस मनाया गया।
जिले के समस्त स्वास्थ्य संस्थानों, आयुष्मान भारत हेल्थ एण्ड वेलनेंस केन्द्रों में तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर जागरूकता अभियान, रैली, शपथ ग्रहण कार्यक्रम किया गया। विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के उपलक्ष में कोटपा अधिनियम 2003 की जानकारी डॉ. मानसी जायसवाल जिला सलाहकार द्वारा दी गई । धारा 4 के तहत सार्वजनिक स्थान में धुम्रपान पर प्रतिबंध, धारा 5 के तहत सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पादों के विज्ञापन पर प्रतिबंध, धारा 6 नाबालिकों और शैक्षणिक संस्थानों के आस-पास सिगरेट या अन्य तम्बाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध, धारा 7.8 एवं 10 बिना विशिष्ट स्वास्थ्य चेतावनियों के सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध के बारे मे जानकारी दी गयी। डॉ.बी.बी. बोडे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला कोरबा एवं डॉ. कुमार पुष्पेश, जिला नोडल अधिकारी (एन.टी.सी.पी.) के मार्गदर्शन में शहर के हृदय स्थल निहारिका चौक से घंटाघर के मध्य तम्बाकू निषेध जागरूकता रैली एवं नुकड़ नाटक का आयोजन किया गया एवं जानकारी दी गई कि वर्तमान स्थिति में तम्बाकू उत्पाद से पर्यावरण को काफी नुकसान हो रहा है जिससे जनसमुदाय प्रभावित है। डॉ.बी.बी. बोडे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने जिले के जनसमुदाय से अपील की ने है कि वे तम्बाकू का सेवन छोड़े एवं अपने आस-पास के तम्बाकू सेवन करने वाले व्यक्तियों को तम्बाकू का सेवन न करने के लिये प्रेरित करें तथा पर्यावरण की संरक्षण करने में अपनी भूमिका निभाएं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments