HomeNATIONALCHHATTISGARHVideo: दुर्ग में पिछले एक हफ्ते में 58 लोग अंतर्राष्ट्रीय यात्राएं कर...

Video: दुर्ग में पिछले एक हफ्ते में 58 लोग अंतर्राष्ट्रीय यात्राएं कर पहुंचे, कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

संध्या सिंह

दुर्ग। पूरे विश्व में कोरोना के नए वेरिएंट मिलने के बाद लगभग दुनिया के सभी देश अलर्ट मोड़ पर हैं। इसी बीच छत्तीसगढ़ में मिनी इंडिया के नाम से जाने वाले दुर्ग भिलाई में अंतर्राष्ट्रीय यात्रा करने आने वालों में से 58 लोगों के आने की लिस्ट जिला प्रशासन को मिली हुई है। जिसमें सभी लोगों को क्वारंटाइन कर टेस्टिंग के लिए सैंपल ले लिया गया है गौरतलब है कि पिछले हफ्ते डिस्टिक सर्विस लांस ऑफिसर ने 6 दिनों में इंटरनेशनल ट्रेवलिंग करने वाले लोगों की जानकारी दुर्ग जिला प्रशासन को दी गई है।

जिसके मुताबिक 6 दिनों में 58 लोगों ने अंतरराष्ट्रीय जगह से यात्रा की है जिसमें कनाडा दुबई आयरलैंड स्वीडन वेस्ट अफ्रीका शिकागो कुवैत मालदीव कतर और नीदरलैंड से सिंगापुर साइप्रस और यूएसए से 15 लोग सूची में शामिल है स्वास्थ्य विभाग को विदेश से जिले में लौटने वाले की पूरी लिस्ट उपलब्ध करवा दी जा रही है जिसमें संपर्क नंबर के साथ उनका पता की जानकारी है।

इसी बीच कोविड-19 की जांच कराने वाले केंद्रों में भीड़ धीरे-धीरे बढ़ रही है संकेत तीसरी लहर की ओर भी है वही दूसरी ओर चुनाव के नाम पर लोग एक ही स्थान पर बड़ी संख्या में सभा और प्रचार के नाम पर इकट्ठा किए जा रहे हैं। दूसरी और कोरोनावायरस के नए मरीज मिलने से जिले में मरीजों की संख्या बढ़ रही है गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना की पहली और दूसरी लहर के दौरान सबसे तेजी से मामले दुर्ग जिले में प्रकाश में आए थे जिसमें विदेश से आने वालों को शुरू में छोड़ दिया गया।

बाद में निर्देश मिले तब उनको होटलों और अलग-अलग स्थानों पर क्वॉरेंटाइन किया गया तब तक स्थिति गंभीर हो चुकी थी नया वेरिएंट ओमी क्रोन मिलने के बाद बाहर से आने वाले लोगों प्रॉपर टेस्टिंग कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन ना किए जाने से जिले में तीसरी लहर की दस्तक देने की आशंका इसके चलते और बढ़ गई है वहीं जिला अनलॉक होने के बाद से ही दूसरे देश और प्रदेश से आने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है स्वास्थ्य विभाग की ना उन पर नजर है और आने जाने बालों में सिर्फ ट्रेन से आने वालों की जांच की जा रही है। सड़क मार्ग से परिवहन करने वालों की जांच नहीं की जा रही है जिससे खतरा और बढ़ता जा रहा है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments