HomeNATIONALCHHATTISGARHसांस्कृतिक और साहित्यिक गतिविधियों को जीवंत करने के लिए "अभिव्यक्ति" गठित

सांस्कृतिक और साहित्यिक गतिविधियों को जीवंत करने के लिए “अभिव्यक्ति” गठित

अमित श्रीवास्तव बैकुंठपुर। कोरिया जिला मुख्यालय में सांस्कृतिक और साहित्यिक गतिविधियों के संयोजन और मंच के लिए एक संस्थान “अभिव्यक्ति” का गठन किया गया। अभिव्यक्ति नामक संस्था पूरे क्षेत्र में शून्य हो चली साहित्यिक गतिविधियों को जीवंत करते हुए नए रचनाकारों, कलाकारों, नवांकुरों को एक मंच प्रदान करने की दिशा में कार्य करेगी। जिला मुख्यालय में लंबे समय से शहर और आसपास के क्षेत्रों में सभी प्रकार की साहित्यिक विधाओं को एक मंच प्रदान करने की जरूरत महसूस की जा रही थी। इसी उद्देश्य को लेकर एक संगठन की आवश्यकता पर ध्यान देते हुए जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में आईसेक्ट कॉलेज परिसर में शनिवार शाम एक बैठक आयोजित की गई। इसमे मनेन्द्रगढ़ चिरमिरी सहित मुख्यालय के साहित्य सेवार्थी शामिल हुए। सबसे पहले माँ सरस्वती की वंदना की गई। इसके बाद बैठक के औपचारिक शुभारंभ में शून्य हो चली विधाओं को पुनः स्थापित करने के साथ ही नए रचनाकारों को मंच प्रदान करने के लिए एक संस्था के गठन की महती आवश्यकता पर विमर्श किया गया। सर्वसम्मति से संस्थान के नामकरण को अंतिम रूप देते हुए गठित संस्था का -अभिव्यक्ति नाम तय किया गया। आज की बैठक में इस संस्थान का नाम तय करते हुए संस्था की नियमावली तैयार की गई। इसके बाद उपस्थित विद्वजन ने अभिव्यक्ति के आगामी कार्यक्रम की रूपरेखा, सदस्यों का चयन,संस्था का पंजीकरण कराने जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर गम्भीरता से विचार विमर्श किया। सर्वसम्मति से यह तय किया गया कि संस्था की ओर से हिंदी के उत्कर्ष के लिए सभी शिक्षण संस्थानों से सम्पर्क कर निरन्तर आयोजन किए जाएंगे। इस संस्थान में साहित्यिक गतिविधियों और कृतियों के लिए उम्र, वर्ग, क्षेत्र का कोई बंधन नहीं रखा जाएगा । यह संस्था सभी सामाजिक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों को आगे ले जाने की दिशा में बढ़ चढ़कर सहभागिता निभाएगी। साथ ही आगामी मार्च माह में ही अभिव्यक्ति का पहला साहित्यिक आयोजन किए जाने पर सभी ने सहमति प्रदान की। संस्था अभिव्यक्ति के सांस्कृतिक, सामाजिक और साहित्यिक भविष्य को लेकर विस्तार से रूपरेखा तैयार करने के बाद बैठक में उपस्थित सभी साहित्यकारों ने अपने विचार और रचनात्मक कृतियों का पाठ किया। इस महत्वपूर्ण बैठक में मनेन्द्रगढ़ के साहित्य प्रेमी मृत्युंजय सोनी, चिरमिरी के हरिकांत अग्निहोत्री सहित शिक्षाविद आर एल त्रिवेदी, भोला प्रसाद मिश्रा अनाम, प्रोफेसर एमसी हिमधर,  राजेश पांडे, राजेन्द्र सिंह, गजलकार शैलेंद्र श्रीवास्तव, आईसेक्ट के संचालक नरेश सोनी, सम्यक क्रांति के प्रबंध निदेशक एस. के. रूप, सुनील शर्मा, योगेश गुप्ता और रुद्र मिश्रा उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments