HomeNATIONALCHHATTISGARHकलेक्टर का जनदर्शन कार्यक्रम शाम 4 बजे होने की वजह से, जिले...

कलेक्टर का जनदर्शन कार्यक्रम शाम 4 बजे होने की वजह से, जिले के दूरस्थ इलाकों के ग्रामीणों को करना पड़ता है परेशानी का सामना

दीपक ठाकुर कवर्धा। साहब हम सुबह 11 बजे से अपनी पीड़ा बताने 50 किमी दूर से आपके कार्यालय आए है, भूखे प्यासे है और यहां के छोटे साहब कहते है जनदर्शन शाम 4 बजे के बाद से शुरू होगा, ऐसे में हम भूखे प्यासे कैसे 4 बजे तक रह पाएंगे और 4 बजे तक रुक भी गए तो घर वापस कैसे जा पाएंगे।
दरअसल यह कहना कलेक्ट्रेट जनदर्शन में पहुंचने वाले वनांचल के ग्रामीणों का है। जो अपनी विभिन्न समस्या लेकर कलेक्टर से मुलाकात कर अपनी पीड़ा बताना चाहते है। पिछले दो सप्ताह से कबीरधाम जिले के कलेक्टर ने हर सोमवार को जनदर्शन कार्यक्रम की शुरुआत की है। कबीरधाम जिले का अंतिम दूरी 85 किसी से भी अधिक है। अधिकतर गांव में शाम 4 बजे के बाद जिला मुख्यालय से बस व अन्य सुविधाएं नही मिल पाती है, इसके बावजूद कलेक्टर साहब ने अपना जनदर्शन शाम 4 बजे से रखा है। इसके बाद भी दूर से आने वाले शिकायत व समस्या लेकर लोग सुबह 11 बजे पहुँच जाते है। जिन्हें शाम के 4 बजे तक बैठना पड़ जाता है, 4 बजे के बाद उन्हे घर तक जाने की समस्या होने लगती है। वही सुबह से भूखे प्यासे कलेक्ट्रेट में जनदर्शन का इतंजार 4 बजे तक करना पड़ता है। पंडरिया व्लाक के वनांचल पलमी, कुकदूर, कुई, बहपानी, बदना इसी प्रकार बोड़ला ब्लाक के रेंगखार, बोक्कर खार सहित अन्य गांव के लोग 11 बजे कवर्धा पहुँच तो जाते है, लेकिन जाने में अधिक समस्या हो जाती है। वही ठंड के मौसम में 5 बजे से ही अंधेरा होने लगता है। जबकि जंगल मे अधिक रात तक जाने में जंगली जानवरों को खतरा रहता है। कुछ ग्रामीण रमेश मरकाम, मान सिंह, सुंदर सिंह बैगा सहित ग्रामीणों का कहना है कम से कम दोपहर 2 बजे से जनदर्शन शुरू हो ताकि 3 बजे तक लोग अपनी समस्या बता सके और 5 बजे तक अपने घर पहुँच सके। इससे लोगो को परेशानी नही होगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments