HomeNATIONALCHHATTISGARHडॉ.दिनेश मिश्र ने गृह मंत्री को लिखा पत्र,कोटवार के सामाजिक बहिष्कार के...

डॉ.दिनेश मिश्र ने गृह मंत्री को लिखा पत्र,कोटवार के सामाजिक बहिष्कार के मामले में की कार्रवाई की मांग

रायपुर। अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष डॉ. दिनेश मिश्र ने बताया ग्राम खजरी पौनी बिलाईगढ़, जिला बलौदाबाजार से सामाजिक बहिष्कार का एक मामला आया है। कोटवार दूधनाथ साहू व उसके भाई के परिवार को समाज से न केवल बहिष्कृत कर दिया गया,बल्कि यह फरमान भी दिया गया कि उस परिवार से यदि कोई बात करेगा तो उससे 50 हजार रुपए जुर्माना लिया जाएगा। उन पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है। उक्त परिवार का गली गांव में निकास,सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होने,हुक्का पानी बंद कर दिया गया है। इससे उक्त परिवार के सदस्य परेशान हो गए है। किसी भी व्यक्ति का सामाजिक बहिष्कार अनुचित और अमानवीय है।
डॉ. मिश्र ने प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को पत्र लिख कर इस मामले में कार्यवाही की मांग की है। सरकार से सामाजिक बहिष्कार के सम्बंध में सक्षम कानून बनाने के माँग की है। डॉ. मिश्र ने कहा ग्राम के कोटवार दूधनाथ साहू और बहिष्कृत परिवार के सदस्यों ने बताया कि शिकायत भी की है,पर कार्यवाही न होने से सामाजिक पंचों के हौसले बुलंद हैं। उक्त परिवार कमजोर
आर्थिक परिस्थिति के हैं और बार बार इस प्रकार की प्रताड़ना होने से गांव में अपमानित और असुरक्षित महसूस कर रहा है। देश का संविधान हर व्यक्ति को समानता का अधिकार देता है। सामाजिक बहिष्कार करना, हुक्का पानी बंद करना एक सामाजिक अपराध है। यह किसी भी व्यक्ति के संवैधानिक एवम मानवाधिकारों का हनन है। प्रशासन को इस मामले पर कार्यवाही कर पीड़ितों को न्याय दिलाने की आवश्यकता है। साथ ही सरकार को सामाजिक बहिष्कार के संबंध में एक सक्षम कानून बनाना चाहिए,ताकि किसी भी निर्दोष को ऐसी प्रताड़ना से गुजरना न पड़े। किसी भी व्यक्ति को मानसिक, शारीरिक रूप से प्रताड़ना देना,उस का समाज से बहिष्कार करना अनैतिक और गंभीर अपराध है। शासन से अपेक्षा है सामाजिक बहिष्कार के खिलाफ सक्षम कानून बनाने की पहल करें ,ताकि हजारों बहिष्कृत परिवारों को न केवल न्याय मिल सके,बल्कि वे समाज में सम्मानजनक ढंग से रह सकें।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments