HomePOLITICALमुख्यमंत्री बघेल हार की दहशत में पद की गरिमा और व्यवहार न...

मुख्यमंत्री बघेल हार की दहशत में पद की गरिमा और व्यवहार न भूलें- भाजपा

रायपुर। भाजपा विधायकों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हार की दहशत में अपने पद की गरिमा और व्यवहार भूल गए हैं। अव्वल तो उनमें इस पद को धारण करने की वैचारिक योग्यता का सर्वथा अभाव है लेकिन जनता ने पिछले चुनाव में कांग्रेस को चुना और कांग्रेस नेतृत्व ने अपनी स्वार्थपूर्ति के लिए भूपेश बघेल को मुख्यमंत्री बनाया तो उम्मीद की जा रही थी कि वे पद की गरिमा के अनुकूल आचरण करेंगे। किंतु दुर्भाग्य का विषय है कि वे घटिया राजनीति से उबर नहीं पाए। उनके भीतर का हल्कापन उनके बयानों से प्रकट हो जाता है।

भूपेश बघेल ने पहले छत्तीसगढ़ की बेटी भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सरोज पांडेय के विरुद्ध बेहूदा टिप्पणी की। अब उन्होंने छत्तीसगढ़ को विकास की पहचान देने वाले 15 साल के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के विरुद्ध अपनी स्तरहीन राजनीति का प्रदर्शन किया है। पूर्व मंत्री व विधायक , कृष्णमूर्ति बांधी, शिवरतन शर्मा, सौरभ सिंह, ननकीराम कंवर, रजनीश सिंह, रंजना साहू ने कहा कि भूपेश बघेल अमर्यादित बयान देकर अपनी स्थिति को हास्यास्पद बना रहे हैं। हाल ही में भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के भ्रष्टाचारियों को उल्टा लटकाने वाले बयान पर भूपेश बघेल ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उनके पुत्र के गले के नाप की रस्सी संबंधी बयान देकर यह साबित कर दिया है कि भ्रष्टाचार कौन कर रहा है ? और किसके- किसके गले के नाप की रस्सी लगेगी।

उन्होंने कहा कि अगर श्री शाह ने भ्रष्टाचारियों के खिलाफ बयान जारी किया तो भूपेश बघेल के पेट में क्यों दर्द होने लगा? अगर वह पाक साफ हैं तो उन्हें किस बात का डर है? छत्तीसगढ़ महतारी को कौन लूट रहा है, यह बताने की जरूरत नहीं है। प्रदेश की जनता सब कुछ जानती है कि कांग्रेस राज में हजारों करोड़ का घोटाला हो रहा है। आसन्न विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को प्रदेश की जनता पूरी तरह नकारेगी। इसकी पूरी तैयारी में जनता बैठी है। झूठी और फरेबी कांगेस की सरकार जो छत्तीसगढ़ को एटीएम बनाकर लूट रही है, उसे बदलने की बात प्रदेश की जनता कहने लगी है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के संबंध में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा की गई टप्पणी भूपेश बघेल की मानसिकता का परिचय दे रही है।

एक मुख्यमंत्री को पूर्व मुख्यमंत्री के बारे में बयान सोच समझकर देना चाहिये। भूपेश बघेल सत्ता के मद में अनर्गल और निम्न स्तरीय बयान देकर स्वयं अपनी छवि को धूमिल कर रहे हैं। वैसे भी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार चलाचली की बेला में है। कांग्रेस सरकार के मुखिया भूपेश बघेल जान गए हैं कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार फिर नहीं आने वाली। इसलिये लगातार घोटालों का कीर्तिमान बनाने में लगे हैं। प्रदेश की जनता कांग्रेस के कुशासन से छुटकारा चाह रही है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments