HomeNATIONALCHHATTISGARHCG CRIME : बटवारा और ब्लैकमेलिंग बनी 2 लोगो की मौत की...

CG CRIME : बटवारा और ब्लैकमेलिंग बनी 2 लोगो की मौत की वजह, दोस्त ने ही उतारा मौत के घाट

वैभव चौधरी

धमतरी। जिले में फिर एक सनसनीखेज हत्याकांड उजागर हुआ है जिसमें तीन दोस्तों ने मिलकर अपने दो दोस्तों की जघन्य हत्या कर दी। जिसमें से एक को सिहावा थाना क्षेत्र के अंतर्गत पुल के नीचे फेंक दिया तो दूसरे को अर्जुनी थाना क्षेत्र के अंतर्गत महानदी में अमेठी के किनारे रेत के नीचे दफना दिया।

वजह आपसी बटवारा के बाद ब्लैकमेलिंग को बताया जा रहा है। गुरुवार को पुल के नीचे जब लाश मिली तब पुलिस आरोपियों तक पहुंचने के बाद पूछताछ की पता चला कि उन्होंने एक और की हत्या की है जिसे महानदी रेत के नीचे बना दिया है। शुक्रवार की सुबह खबर फैलते ही नदी के किनारे गांव से गांव वासियों का हुजूम उमड़ पड़ा। 5 दोस्तों के बीच ऐसा क्या हो गया कि 2 दोस्तों की जान लेनी बड़ी। चोरी के बाद आपसी बटवारा व पुलिस को बताने के नाम पर ब्लैक मेलिंग है।बताया जा रहा है कि यह धमतरी और कांकेर जिले के 5 दोस्त हैं जो अक्सर मिलकर चोरी किया करते थे।

जिसमें से एक धमतरी और बाकी चारामा क्षेत्र के है।सिहावा पहुंचकर सभी पांचो दोस्त शराब का सेवन किया और इसी बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया।विवाद इतना बढ़ गया कि दोस्तों ने तरुण यादव की चाकू मारकर हत्या कर सोनामगर पुल नीचे फेंक दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस चौकस हो गई। शाम तक आरोपियों तक पुलिस पहुंच गई।

पूछताछ में 3 दोस्तो ने एक सनसनीखेज खुलासा कर दिया उन्होंने बताया कि एक और दोस्त युगल किशोर चारामा की हत्या अमेठी के किनारे नदी में रेत के नीचे रख दिया गुरुवार शाम को ही आरोपियों को लेकर अर्जुनी थाना पहुंची जहां से घटनास्थल तक लाया गया। रात में सभी आरोपियों को फिर से सिहावा थाना ले जाकर कारवाही बढ़ाई गई। सूचना मिलते ही सुबह गांव में सनसनी,नदी किनारे भीड़ जैसे ही अमेठी में यह सूचना मिली कि नदी किनारे किसी की हत्या कर लाश को दफनाया गया है, पुलिस की टीम पहुंच गई थी उसके साथ साथ ग्रामीण भी पहुँचने लगे थे। लोग उत्साहवश कई घंटे जमे रहे। इसके पहले शुक्रवार रात में भी पुलिस ने चौकसी किया था, ताकि लाश की जगह तक कोई भी ना पहुंच पाए।

नायब तहसीलदार की मौजूदगी में निकाला शव

एसडीएम के आदेश पर नायब तहसीलदार कुणाल सर्विया को कार्यपालक मजिस्ट्रेट के रूप में मौजूद थे। जहां पर पुलिस की टीम की मौजूदगी में लाश को रेती से निकाला गया। गर्म रेत होने की वजह से लाश गलने लगी थी। लाश से बदबू आना शुरू हो गया था।मृतक यूगल किशोर देवांगन के परिजन पहुंचे थे। पुलिस आरोपी नूतन, इमामुद्दीन और दयाशंकर तिवारी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई में जुट गई। इस संबंध में पुलिस ने किसी भी तरीके से कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments