HomeNATIONALCHHATTISGARHडॉ. हरिदास भारद्वाज का नामांकन रद्द करना गैर क़ानूनी,असंवैधानिक और छत्तीसगढ़ विरोधी...

डॉ. हरिदास भारद्वाज का नामांकन रद्द करना गैर क़ानूनी,असंवैधानिक और छत्तीसगढ़ विरोधी : अमित जोगी

रायपुर। जेसीसीजे के राज्यसभा प्रत्याशी डॉ. हरिदास भारद्वाज का नामंकन रद्द होने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने बयान जारी किया है। अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा कि, डॉ.हरिदास भारद्वाज का नामंकन गैर क़ानूनी और असंवैधानिक तरीके अपनाकर रद्द किया गया है । इसके जवाब में संविधान की धारा 226/7 के अंतर्गत जनता कांग्रेस, छत्तीसगढ़ में राज्यसभा चुनाव की पूरी प्रक्रिया पर रोक लगाने उच्च न्यायालय से गुहार लगाएगी। अमित जोगी ने कानून और संविधान का हवाला देते हुए कहा कि जनप्रतिनिधित्व कानून में प्रस्तावकों की संख्या के विषय में साफ़ उल्लेखित है कि अगर राज्यसभा प्रत्याशी निर्दलीय है तो उस प्रत्याशी के लिए, विधानसभा में कुल विधायकों की संख्या के 10 प्रतिशत विधायक प्रस्तावक होने चाहिए। अगर राज्यसभा प्रत्याशी, चुनाव आयोग की ओर मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय या क्षेत्रीय दल का हो तो, प्रत्याशी को उसके सम्बंधित दल के विधायकों की कुल संख्या के 10 प्रतिशत विधायक प्रस्तावक होने चाहिए। यानि छत्तीसगढ़ के संदर्भ में, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे), चुनाव आयोग की ओर से एक मान्यता प्राप्त दल है। उसके कुल विधायक यानि 3 विधायकों में से 10 प्रतिशत विधायकों यानि केवल 1 विधायक प्रस्तावक के रूप में होना चाहिए। जीसीसीजे के प्रत्याशी डॉ. हरिदास भारद्वाज के नामांकन में जीसीसीजे के तीनों विधायकों ने प्रस्तावक के रूप में हस्ताक्षर किए हैं,यानि पार्टी के 100 प्रतिशत विधायक प्रस्तावक बने थे। इसलिए प्रस्तावकों की संख्या के आधार पर डॉ. हरिदास भारद्वाज का नामांकन रद्द करना पूर्णतः गैरक़ानूनी और असंवैधानिक है। अमित जोगी ने नामांकन रद्द करने को एक आपराधिक कृत्य की संज्ञा दी और कहा कि राज्य के मुखिया ने इसे प्रायोजित किया है।  

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments