HomeNATIONALCHHATTISGARHआशा देशमुख को उनकी प्रथम कृति छंद चंदैनी के लिए छंद रतन...

आशा देशमुख को उनकी प्रथम कृति छंद चंदैनी के लिए छंद रतन सम्मान से किया गया सम्मानित

बीएन यादव कोरबा। “छन्द के छ:” गुरुकुल परिवार छत्तीसगढ़ की वरिष्ठ साधिका एवं कवियत्री आशा देशमुख की छंद चंदैनी पुस्तक का विमोचन छंद के छ: गुरुकुल परिवार (छत्तीसगढ़)के स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर संस्कारधानी राजनांदगांव में इंदिरा कला विश्वविद्यालय के प्रोफेसर राजन यादव के कर कमलों से हुआ।
इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम में नीलकंठ गढ़े राष्ट्रीय महासचिव केंद्रीय गोड़ महासभा, व्याकरणविद विनोद कुमार वर्मा कृषि वैज्ञानिक कुबेर सिंह, वीरेंद्र बहादुर सिंह एवम गुरुकुल के संस्थापक अरुणकुमार निगम की गरिमामयी उपस्थिति से पूरी सभा अभिभूत थी।

आशा देशमुख की प्रथम कृति छंद चंदैनी,पूरी धरती पर बिखर रही है।
ये छत्तीसगढ़ी भाषा मे लिखी गयी किताब है जिसमें अनेक छंदों की छटा इनकी रचनाओं में दिख रही है।

छंद की छ गुरुकुल के इस स्थापना दिवस समारोह में 200 से भी अधिक साधकों की उपस्थिति रही, जो इस कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए.छत्तीसगढ़ भाषा को समृद्धि शाली बनाने में छंद के छ: परिवार की महती भूमिका है।

अत्यंत गौरवमयी सफलता के लिए आशा देशमुख को बधाईयों भरा स्नेह आशीष मिल रहा है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments