HomeNATIONALCHHATTISGARHशिक्षित बेरोज़गारों के बाद प्रदेश सरकार अब शिक्षा जैसे क्षेत्र में भी...

शिक्षित बेरोज़गारों के बाद प्रदेश सरकार अब शिक्षा जैसे क्षेत्र में भी नाकारापन की पराकाष्ठा कर रही : अमित साहू

रायपुर। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू ने कहा है कि प्रदेश में मेडिकल काउंसिलिंग की तिथि घोषित होने को है, लेकिन चिकित्सा शिक्षा विभाग से क़रार के बावज़ूद अब तक छत्तीसगढ़ इन्फ़ोटेक प्रमोशन सोसाइटी (चिप्स) का इसके लिए तैयार नहीं हो पाना चिकित्सा छत्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। साहू ने कहा कि प्रदेश सरकार इस मोर्चे पर भी डींगें हाँकने में अव्वल रही लेकिन इस पूरी प्रक्रिया के क्रियान्वयन के मामले अपनी शर्मनाक लापरवाही दिखाने से बाज नहीं आई है।

भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष साहू ने कहा कि प्रदेश सरकार, स्वास्थ्य मंत्रालय, चिप्स और चिकित्सा शिक्षा विभाग की इस उदासीनता के चलते एक बार फिर चिकित्सा शिक्षा विभाग इस प्रक्रिया को पूरा करेगा जबकि व्यवस्था और तक़नीकी समस्याओं को देखते हुए इस बार काउंसिलिंग का ज़िम्मा चिप्स को सौंपा गया था, लेकिन चिप्स अब तक इसकी कोई वतैयारी नहीं कर पाया है और 23 नवम्बर के बाद कभी मेडिकल काउंसिलिंग की तारीख़ घोषित हो सकती है।

साहू ने क्षोभ व्यक्त किया कि दो प्रोग्रामर नियुक्त किए जाने के बावज़ूद चिप्स की उदासीनता तो अक्षम्य है ही, बड़ी-बड़ी शेखी बघारकर अपने मुँह मियाँ मिठ्ठू बनने वाली प्रदेश सरकार की लापरवाही भी सामने आ गई है। युवा शिक्षित बेरोज़गारों के साथ प्रदेश सरकार की धोखाधड़ी के बाद अब शिक्षा जैसे क्षेत्र में प्रदेश सरकार अपने नाकारापन की पराकाष्ठा कर रही है, जो बेहद निंदनीय और शर्मनाक है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments